Watch videos with subtitles in your language, upload your videos, create your own subtitles! Click here to learn more on "how to Dotsub"

Steve Jobs Stanford Speech

0 (0 Likes / 0 Dislikes)
शुक्रिया दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में आज आप लोगों के साथ होकर मैं सम्मानित हुआ सच तो यह है कि मैं कभी कॉलेज से पास नहीं हुआ और दीक्षान्त के सबसे समीप मैं आज आया हूँ आज मैं आपको अपने जीवन से तीन कहानियाँ बताना चाहता हूँ बस कुछ विशेष नहीं केवल तीन कहानियाँ पहली कहानी बिंदुओं को जोड़ने के बारे में है मैंने पहले ६ महीनों बिता ने के बाद रीड कॉलेज छोड़ दिया लेकिन फिर भी छोड़ने से पहले कॉलेज में करीब १८ महीनों तक मँडराता रहा तो फिर मैंने कॉलेज क्यों छोड़ दिया यह शुरू हुआ मेरे जन्म से पहले मेरी असली माँ एक अविवाहित कॉलेज छात्रा थी और उसने मुझे गोद देने का निर्णय लिया वह बहुत चाहती थी कि मुझे कोई कॉलेज पढ़े लोग गोद लें इसीलिये एक वकील व उसकी पत्नी का मुझे गोद देना तय किया गया सिवाय इसके कि जब मेरा जन्म हुआ उन्होंने निर्णय बदल लिया कि उन्हें तो वास्तव में लडकी चाहिए थी तो मेरे माता पिता को, जो उस समय प्रतीक्षा सूची में थे देर रात के बीच एक फोन आया "हमारे एक अप्रत्याशित लड़का हुआ है । आप उसे गोद लेना चाहते हैं?" उन्होंने कहा: "अवश्य!" मेरे जन्मदा माँ को बाद में पता चला कि मेरी माँ ने अभी कॉलेज पास नहीं की थी और मेरे पिता ने कभी बारहवीं पास नहीं की थी उसने गोद लेने के अंतिम कागज़ों पर हस्ताक्षर करने से मना कर दिया वह कुछ महीने ही बाद मानी जब मेरे माता पिता ने आश्वासन किया कि मुझे किसी दिन कॉलेज भेजेंगे यह मेरी ज़िंदगी की शुरुआत थी और १७ साल बाद, मैं कॉलेज गया भी लेकिन मैंने भोलेपन में एक ऐसा कॉलेज चुना जो स्टेनफर्ड जितना महँगा था और मेरे मध्यमवर्गी माता पिता की सारी बचत मेरी कॉलेज फ़ीस पर ही खर्च रही थी छह महीने बाद, मुझे इसमें कुछ सार नहीं दिखा मुझे यह बिल्कुल नहीं पता था कि मैं अपने जीवन से क्या करना चाहता था और कॉलेज इस दुविधा को सुलझाने में किस प्रकार मेरी सहायता करने वाली थी और इधर मैं अपने माता-पिता की जीवन भर की बचत खर्च कर रहा था मैंने कॉलेज छोड़ने का निर्णय किया इस विश्वास के साथ 'सब ठीक हो जाएगा' उस समय वह निर्णय भयप्रद था पर अब लगता है कि वह मेरा सर्वोत्तम निर्णय था जिस पल मैंने कॉलेज छोड़ी मैं अनिवार्य लेकिन अरुचिकर कक्षाओं में जाना छोड़ सकता था और अधिक रोचक कक्षाओं में बैठ सकता था सब कुछ इतना रूमानी नहीं था मेरे पास हॉस्टल का कमरा नहीं था इसलिए मैं एक दोस्त के कमरे में फर्श पर सोता था मैं ५ ¢ कमाने के लिए कोक की बोतलें वापस करता था जिससे खाना खरीद सकूँ और पूरे सप्ताह में एक बार अच्छा भोजन करने के लिए मैं ७ मील चल कर हर रविवार रात को हरे कृष्ण मंदिर जाता था मुझे यह अच्छा लगता था और जो भी मैंने अपनी जिज्ञासा और दिल की बात सुन कर किया और पाया वह सब बाद में अमूल्य साबित हुआ मैं तुम्हें एक उदाहरण दे देता हूँ उस समय रीड कॉलेज में शायद देश का सबसे अच्छा कैलीग्राफी पाठ्यक्रम उपलब्ध था कैम्पस का हर पोस्टर, हर दराज पर हर लेबल बहुत सुंदरता से हाथ से लिखा गया था क्योंकि मैंने कॉलेज छोड़ दिया था और मैं नियमित विषयों की कक्षा में बैठने के लिए बाध्य नहीं था इसलिए मैंने कैलीग्राफी सीखने का फैसला किया मैंने सेरिफ़ और सान सेरिफ़ अक्षर रचना और अलग-अलग अक्षरों के बीच दूरी की मात्रा के बारे में सीखा मैंने सीखा कि कैसे सुन्दर अक्षर रचना सुन्दर कैसे बनती है वह सुंदर, अद्वितीय, कलात्मकता में सूक्ष्म जो विज्ञान कब्जा नहीं कर सकते और मुझे वह आकर्षक लगा इस मे से किसी का भी मेरे जीवन मै व्यावहारिक प्रयोग करने की मुझे उम्मीद नहीं थी लेकिन दस साल बाद, जब हम पहली Macintosh कंप्यूटर बना रहे थे यह सब मुझे याद आया और हमने इसे Mac के डिजाइन मै इस्तेमाल किया सुंदर अक्षर रचना वाला वह पहला संगणक था अगर मैंने मेंरे कॉलेज का वह एक विषय नहीं पढा होता तो Mac संगणक मै विविध अक्शर रचना और समांतर अक्षर रचना की प्रणाली कभी नही होती और क्योंकि windows ने Mac की सिर्फ नकल की इस लिये कोई और व्यक्तिगत कंप्यूटर मै वह होने कोई संभावना नही अगर मैं कभी कॉलेज नही छोडता,तो मैं कभी सुलेखन कक्षा में नही जाता और शायद personal computer मै सुंदर अक्शर रचना का प्रयोग नहीं होता बेशक जब मैं कॉलेज में था, तब भविष्य में देख के यह बिंदुओंको संलग्न करना असंभव था लेकिन दस साल बाद पीछे देखकर यह बहुत ही साफ नझर आया तुम भविष्य में देख के बिंदुओंको संलग्न नहीं कर सकते तुम सिर्फ उन्हें भूतकाल में देख कर संलग्न कर सकते हो इसी लिए तुम्हे विश्वास रखना है कि किसी तरह यह बिंदु तुम्हारे भविष्य में संलग्न हो जायेंगे तुम्हे कुछ चिजों में विश्वास करना होगा अपनी संभावना, भाग्य, जीवन, कर्म, जो भी हो क्योंकि यह विश्वास रखना कि किसी तरह यह बिंदु तुम्हारे भविष्य में जोड़ जायेंगे तुम्हें आत्मविश्वास देंगे भले ही यह अज्ञात मार्ग में ले जायें और यह जीवन को अलग बनाएगा मेरी दूसरी कहानी है प्यार और नुकसान के बारे में मैं भाग्यशाली था मुझे जो करना पसंद था वह मुझे जीवन में बहुत पेहले मिला जब मैं २० वर्ष का था, Woz और मैंने मेरे माता पिता के गैरेज में Apple शुरू की हमने बहुत मेहनत की और 10 साल में Apple एक गैरेज में हम दोनों से लेके, एक 2 अरब डॉलर की 4000 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनी हो गई थी हमने सिर्फ एक साल पहले हमारी बेहतरीन रचना - Macintosh - जारी की थी और मैं तभी 30 साल का हुआ था और फिर मुझे निकाल दिया गया जो कंपनी तुमने शुरू की है, उस कंपनी से तुम कैसे एक निकाले जा सकते हो? जैसे apple बढ़ी हमने किसी ऐसे को काम पर रखा जो मैंने सोचा था कि मेरे साथ कंपनी को चलाने के लिए बहुत प्रतिभाशाली था और लगबग पहले वर्ष के लिए तो सबकुछ अच्छा रहा लेकिन फिर भविष्य की हमारी दृष्टि अलग होने लगी और हम में झगडा हो गया हमारे निदेशक मंडल ने उसका पक्ष लिया ऐसे 30 साल कि उम्र में मै बाहर निकाला गया था.बहुत ही सार्वजनिक रूप से बाहर निकाला गया था जिस पे मेरे पूरे वयस्क जीवन का ध्यान केंद्रित था वह चला गया था और यह विनाशकारी था कुछ महीनों के लिए मुझे सच में नहीं पता था के मैने क्या करना चाहीये मुझे लगा कि मैंने उद्योजकों की पिछली पीढ़ी को निराश किया था कि जो छडी मुझे सौप दी गयी थी वह मैंने गिरा दी थी मैं दैवीड पॅकार्ड और बॉब नोइस से मिला और मेरे इतने बुरे अपयश के लिए माफी माँगी मेरा अपयश एक बहुत ही सार्वजनिक विफलता थी और मैंने तो वैली से भागने का भी विचार किया था. लेकिन कुछ बातें धीरे धीरे मुझे समझने लगी - मैने जो काम किया था उस से मुझे अभी भी लगाव था Apple में हुई घटनाओं से वह एक बात नहीं बदली थी मुझे अस्वीकार किया था,लेकिन मैं अभी भी उसी बात से प्यार करताथा और इसलिए मैंने फिरसे शुरूवात करने का फैसला किया मैंने यह तो नहीं देखा था, लेकिन पता चला कि Apple से निकाल दिया जाना यह मेरे लिये सबसे अच्छी बात थी नये काम के हलकेपन ने सफल होने के भारीपन की जगह ले ली थी सभी चिजों की कम निश्चिती इसने मुझे मेरे जीवन के सबसे रचनात्मक अवधि में प्रवेश करने के लिए मुक्त कर दिया अगले पांच वर्षों के दौरान, मैंने एक नैक्ट नाम की एक और Pixar नामक कंपनी कंपनी शुरू की, और एक अलगही औरत से मुझे प्यार हो गया, जो मेरी पत्नी बन गयी Pixar ने दुनिया की पहली कंप्यूटर एनिमेटेड फीचर फिल्म बनायी टॉय स्टोरी और जो की अब दुनिया का सबसे सफल एनीमेशन स्टूडियो है कुछ उल्लेखनीय घटनाओं की एक बारी में, एप्पल ने नैक्स्ट कंपनी को खरीद लिया मैं लौट कर एप्पल में आया, और जो तंत्रद्यान हमने नैक्स्ट के लिये विकसित कीया था वह अब एप्पल के वर्तमान नवनिर्माण के प्रमुख स्थान में है और लौरेन और मैंरा एक खुशहाल परिवार है मुझे पूरा यकीन है कि अगर मैं एप्पल से नहीं निकाल जाता, तो यह सब नहीं होता वह भयानक चखने वाली दवा थी, लेकिन मुझे लगता है कि वह रोगी की जरूरत थी कभी कभी जीवन एक ईंट से तुम्हारे सिर में चोट करता है. विश्वास मत खोना मुझे विश्वास है कि केवल एक चीज ने मेरा साथ दिया, मैंने वही किया जो मुझे पसंद था जो तुम्हे पसंद है वह तुमने खोजना चाहिये और यह बात जितनी तुम्हारे प्रेमियों के लिये सच है उतनिही तुम्हारे काम के लिए भी सच है तुम्हारा काम तुम्हारे जीवन का एक बड़ा हिस्सा है और संतुष्ट होने का एकमात्र तरीका है वोही काम करो जो तुम्हे महान लगे और महान काम करने का एक ही तरीका हैं, तुम्हारे काम से तुम्हे प्यार हो अगर आप को अभी तक वह नहीं मिला है, तो खोजते रहो. स्वस्थ मत रहो जैसे दिल के सभी मामलों में होता है, जब तुम्हे वह मिलेगा तुम्हे पता चल जाएगा और, किसी भी अच्छे रिश्ते की तरह, जैसे साल गुजरते है, यह सिर्फ बेहतर और बेहतर होता जाता है इसी लिए जब तक वह ना मिले ढुंडते रहना.स्वस्थ ना रहो मेरी तीसरी कहानी है मौत के बारे में जब मैं १७ साल का था, मैंने एक उद्धरण पढा, वह कुछ ऐसा था "अगर तुम जिंदगी का हर दिन ऐसे जिते हो जैसे वह आखरी दिन है, तो कभी तो वह सच होगा" यह विचार मुझ पर छा गया, और तब से पिछले ३३ वर्षों से, हर सुबह मैने खुद को आईने में देखा है और अपने आप से पूछा है: "अगर आज मेरी जिंदगी का आखिरी दिन होता, तो क्या मैं वही करता जो मै आज करने वाला हुं?" और जब भी एक साथ कई दिनों तक जवाब आया "नहीं", मुझे पता है की मुझे कुछ बदलने की जरूरत है याद रखना कि मैं जल्द ही मर जाने वाला ,हुं यह मुझे मिला हुआ सबसे महत्वपूर्ण उपकरण है जो जीवन के बड़े पर्यायो में से चुनने के लिये मेरी मदद करता है क्योंकि लगभग सब कुछ - बाहरी उम्मीदें, सभी गर्व, हार या शर्म का डर - ये बातें मौत के सामने कोई मायने नही रखती जो असल में महत्वपूर्ण है केवल वही रहता है तुम कुछ खोने वाले हो यह सोच की जाल से बचने का सबसे अच्छा तरीका है यह याद रखना कि तुम मरने वाले हो तुम पहले से ही नग्न हो. कोई कारण नहीं है जिसके लिए तुम अपने दिल की ना सुनो लगभग एक साल पहले मुझे कैंसर का निदान किया गया था मुझे सुबह ७:३० बजे स्कैन किया था, और उसमे स्पष्ट रूप से मेरे अग्न्याशय पर एक ट्यूमर दिखा मुझे तो पता ही नहीं था की अग्न्याशय क्या था डॉक्टरों ने मुझे लगभग निश्चित रूप से बताया की यह एक प्रकार का लाइलाज कैंसर है और यह कि मैंने अब तीन से छह महीनों से ज्यादा जिवीत रेहने की उम्मीद नही करनी चाहिए मेरे डॉक्टर ने मुझे घर जाने की और अपने मामलों की व्यवस्था करने की सलाह दी जो की मरने के लिए तैयार होने का डॉक्टर का निर्देश है मतलब अपने बच्चों को वह सब कुछ ही महीनों में बताने की कोशिश करना जो बताने के लिये तुम्हारे पास अगले १० साल है ऐसा तुमने सोचा था मतलब यह निश्चित करना की सब कुछ व्यवस्थित है, ताकी तुम्हारे परिवार के लिए यह जितना संभव है उतना आसान हो मतलब आपने अलविदा कहना मैने उस निदान के साथ सारा दिन गुजारा बाद में उस शाम मुझ पे बायोप्सी की गयी जहां उन्होने मेरे गले के माध्यम से मेरे पेट में ओर मेरी आंतों में endoscope डाला मेरे अग्न्याशय में एक सुई डाली और ट्यूमर की कोशिकाओं को निकाला. मैं बेहोश था लेकिन मेरी पत्नी ने, जो वहाँ थी, मुझे बताया कि जब उन्होनें एक microscope के नीचे कोशिकाओं को देखा, तब डॉक्टर रोने लगे क्योंकि यह निष्पन्न निकला था कि वह अग्नाशय का दुर्लभ कैंसर था जो की सर्जरी से ठीक हो सकता है मैंरी सर्जरी की गयी और मैं अब ठीक हूँ यह मेरा मौत से सबसे निकटतम सामना था, और मेरी उम्मीद है की अगले कुछ और दशकों के लिए यह सबसे निकटतम हो इस अनुभव से गुजरने के बाद, अब मै आपको यह थोड़ी अधिक निश्चितता से कह सकता हुं मृत्यु एक उपयोगी परंतु केवल बौद्धिक संकल्पना था कोई मरना नहीं चाहता. यहां तक कि जो लोग स्वर्ग जाना चाहते हैं, वह भी वहां जाने के लिए मरना नहीं चाहते और फिर भी मृत्यु ही हम सब का अंतिम गंतव्य स्थान है कोई भी इस से बचा नही है. और वह इसी रूप में रेहना चाहिए क्योंकि मृत्यु जीवन का संभावित सर्वोत्क्रुष्ट आविष्कार है. यह जीवन का परिवर्तन कर्ता है. यह पुराने को साफ कर के नए के लिए रास्ता बनाता हैं इस वक्त तुम नये हो, लेकिन किसी दिन जो बहुत दुर नहीं है, आप धीरे धीरे पुराने हो जाओगे और दूर किये जाओगे काव्यात्मक होने के लिये क्षमा करें, लेकिन यह एक सत्य है तुम्हारा समय सीमित है, इस लिये किसी और का जीवन जीने में वह बर्बाद मत करो हठधर्मिता में मत फसो - जो की दूसरे लोगों की सोच के परिणाम के साथ रहने की तरह है दूसरों के विचारों के शोर में अपनी खुद की अंदर की आवाज मत डूबने देना और सबसे महत्वपूर्ण, अपने दिल और अंतर्ज्ञान का उपयोग करने का साहस करो. वे किसी तरह पहले से ही जानते है की तुम सच में क्या बनना चाहते हो. बाकी सब गौण है जब मैं छोटा था, तब एक अद्भुत प्रकाशन था दि होल अर्थ कैटलॉग जो मेरि पिढि का बैबल था वह एक स्ट्युवर्ट ब्रांड नाम के आदमी ने लिखा था, यहां से ज्यादा दूर नहीं, यहीं Menlo पार्क में, और उसने अपने काव्यात्मक स्पर्श से इसे ताझा किया यह अंतीम १९६० दशक की बात है, पर्सनल कंप्यूटर और डेस्कटॉप प्रकाशन से पहले की, तो यह सब टाइपराइटर, कैंची,और पोलोराइड कैमरों के साथ बनाया गया था यह जैसे गूगल किताब के रूप में था गूगल के आने के ३५ साल पहले यह आदर्शवादी था, और स्वच्छ उपकरण और महान विचारों के साथ भरा हुआ था स्ट्युवर्ट और उनकी मंडलिओंने दि होल अर्थ कैटलॉग के कई प्रकाशन निकाले, और फिर जब वह अपने पाठ्यक्रम से चलाने लागा, उन्होने एक अंतिम प्रकाशन निकाला वह १९७० के दशक के मध्य में था, और मैं तुम्हारी उम्र का था पर उनके अंतिम प्रकाशन के पीछले प्रुष्ठ पर सुबह के वक्त के गांव के सड़क की एक तस्वीर थी ऐसी सडक जिसपे आप किसी और से सवारी मांग सकते हो, अगर तुम ऐसी सडक पे चलने का साहस करो तो. उसके नीचे यह शब्द थे: "भूखे रहो. मूर्ख रहो." यह उनकी विदाई का संदेश था जब उन्होने काम बंद किया "भूखे रहो. मूर्ख रहो." और मैंने हमेशा इस की खुद के लिए लिये कामना की है. और अब जब आप स्नातक के रूप में नयी शुरूवात करेंगे, मैंरी तुम्हारे लिए यही इच्छा है. "भूखे रहो. मूर्ख रहो." आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद

Video Details

Duration: 14 minutes and 34 seconds
Country: United States
Language: English
Producer: Stanford University
Views: 156
Posted by: sahaamity on Jul 5, 2011

Steve Jobs Stanford Speech

Caption and Translate

    Sign In/Register for Dotsub to translate this video.